बिहार में कोरोना से छठी मौत, कोरोना पॉजिटिव आंकड़ा हुआ 663

पटना : बिहार में रविवार कोरोना से छटी मौत हो गई. पीएमसीएच में अस्थमा पीड़ित 60 वर्षीय व्यक्ति ने दम तोड़ दिया. मरीज चार मई को दिल्ली से छह लोगों के साथ राजधानी पटना के बाढ़ (बेलछी) आया था, जिसके बाद उसे क्वारंटाइन किया गया था. बाद में तबीयत खराब होने पर उसे पीएमसीएच में भर्ती कराया गया, जहां रविवार को इलाज के दौरान मौत हो गई है. इसके साथ ही रविवार को राज्य में कोरोना के 52 नए मामले मिले हैं.

बिहार में केवल जमुई है बचा

जिले के 38 में से 37 जिले कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. अब राज्‍य का केवल जमुई जिला ही इस महामारी से बचा है. बताया जा रहा है कि आप्रवासियों के साथ राज्‍य में कोरोना के नए मामलों में वृद्धि हुई है. रविवार को 52 नए मामलों के मिलने से हड़कम्‍प मच गया है. इसके साथ राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 663 हो गई है. जबकि, अब तक कुल 330 संक्रमितों ने कोरोना को पराजित करने में सफलता हासिल की है.

एक दिन में सामने आए 42 मामले

स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा रविवार को जारी कोराना रिपोर्ट के अनुसार पटना में पहली बार एक साथ नौ कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. वहीं सहरसा व मधेपुरा से सात-सात नए मामले मिले हैं. दरभंगा से दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. बेगूसराय व अररिया से भी एक-एक मरीज मिले हैं. किशनगंज से आठ तथा अरवल से चार पॉजिटिव मामले मिले. लंबे समय बाद गया से भी दो नए मामले सामने आए. पूर्वी चंपारण से चार तो मुजफ्फरपुर तीन की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. औरंगाबाद से एक व नवादा से दो तो भोजपुर से एक संक्रमित मिला है. इस तरह से आज 52 मामले सामने आ चुके हैं.

शनिवार को कोरोना की मुजफ्फरपुर में दस्‍तक

इसके पहले शनिवार को महामारी ने मुजफ्फरपुर जिले में दस्‍तक दी. पहली बार मुजफ्फरपुर से तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई. शनिवार को मुजफ्फरपुर के तीन संक्रमित समेत 32 नए मामले सामने आए. स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मुजफ्फरपुर के मुशहरी से शनिवार को तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि मुशहरी से मिले तीनों संक्रमित मजदूर हैं, जो दो दिन पूर्व ही बाहर से वापस लौटे हैं. उन्होंने कहा कि संक्रमण की जद में आने वाला मुजफ्फरपुर राज्‍य का 37वां जिला है.

बेगूसराय, शेखपुरा समेत 10 जिलों से मिले पॉजिटिव

दो दिनों के दौरान किशनगंज से आठ, बेगूसराय से 13, रोहतास से पांच, अरवल से सात, गया, नालंदा व मुंगेर से दो-दो तथा वैशाली, भागलपुर, खगडिय़ा, शेखपुरा और सिवान से भी एक-एक संक्रमित मिले हैं. प्रधान सचिव ने कहा जिलों से इनकी ट्रैवल और कांटेक्ट हिस्ट्री तलब की गई है.

आप्रवासी बिहारियों ने बढ़ाई मुश्किलें, 44 मिले पॉजिटिव

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार दो दिनों के भीतर 44 ऐसे मरीज मिले हैं, जो हाल में दूसरे राज्‍यों से बिहार आए हैं. खास बात यह है कि उन्‍हें बाहर के राज्‍यों से बिहार भेजने के पहले जांच के बाद ही ट्रेनों में जगह दी गई थी. बिहार पहुंचने पर भी स्क्रीनिंग की गई. बाद में क्वारेंटीन सेंटर में लिए गए सैम्पल की जांच में उनके कोरोना संक्रमित होने का खुलासा हुआ है.

बिहार में सात हो रही जांच, तीन कोरोना अस्‍पताल

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि राज्य में तीन कोरोना अस्‍पताल काम कर रहे हैं. एनएमएसीएच (पटना), एएनएमसीएच (गया) और जेएलएनएमसीएच (भागलपुर) ऐसे तीन अस्‍पताल हैं. राज्य में सात केंद्रों पर सैम्पल की जांच की जा रही है. अगले कुछ दिनों में जांच के लिए तीन और लैब बढ़ाए जाएंगे.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More