पंजाब में शराब की होम डिलीवरी शुरू, जानें एक आदमी कितना खरीद सकता है

देश में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कवायद के मद्देनजर शराब की बिक्री शुरू हो गई है. मगर शराब की बिक्री के दौरान जगह-जगह सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन करते लोगों को देखा गया है. इस बीच भीड़ को खत्म करने के लिए शराब की बिक्री को लेकर पंजाब सरकार ने अहम फैसला लिया है. पंजाब में अब लोग घर बैठे ही शराब मंगवा सकेंगे. जी हां, आज से पंजाब में शराब की होम डिलीवरी शुरू हो गई है.

पंजाब सरकार आज (गुरुवार) शराब की होम डिलीवरी कराने जा रही है. हालांकि, इस दौरान राज्य में शराब की दुकानें भी खुली रहेंगी. यह दुकाने सिर्फ सुबह नौ बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक, चार घंटे के लिए खुलेंगी. बताया जा रहा है कि एक आदमी को अधिक से अधिक दो लीटर ही शराब मिलेंगी. यानी कोई भी व्यक्ति इससे ज्यादा की शराब नहीं मंगा सकता. पंजाब सरकार ने लॉकडाउन का पालन करने और सोशल डिस्टेंसिंग के उपायों का पालन करने के उद्देश्य से यह फैसला लिया है.

बता दें कि कोरोना लॉकडाउन-3 में कुछ रियायतें दिए जाने की वजह से आ रही दिक्कतों को ठीक करने के लिए सरकारों को हर बार नियमों में बदलाव करना पड़ रहा है. ज्यादतर राज्य सरकारों ने सबसे पहले शराब की बिक्री शुरु कर दी है, मगर सोशल डिस्टेसिंग की धज्जियां उड़ने पर सरकार को नियमों में बदलाव करना पड़ रहा. कई राज्यों ने तो शराब महंगी कर दी है तो कुछ ने फैसला वापस ले लिया है.

इधर, छत्तीसगढ़ सरकार ने भी शराब की होम डिलीवरी कराने के लिए एक पोर्टल लॉन्च किया है. शराब की दुकानों पर लग रही भारी भीड़ को देखते हुए राज्य सरकार ने यह कदम उठाया. इसके जरिए लोग घर बैठे शराब मंगवा सकेंगे. हालांकि, यह सर्विस उन्हीं लोगों के लिए उपलब्ध होगी, जो ग्रीन जोन में हैं. एक अधिकारी ने बताया कि छत्तीसगढ़ के ग्रीन जोन वाले लोग सीएसएमसीएल मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड करके शराब का ऑर्डर ऑनलाइन कर सकेंगे. वेबसाइट के जरिए से भी ऑर्डर किया जा सकेगा. इसके लिए 120 रुपये डिलीवरी चार्ज अतिरिक्त देने होंगे.

बता दें कि चार मई से शराब की बिक्री की अनुमति मिलने के बाद कई राज्यों में एक दिन में ही करोड़ों रुपये की शराब बिक चुकी है. उत्तर प्रदेश में पहले दिन तकरीबन 100 करोड़ रुपये की शराब बिकी. इसके अलावा कर्नाटक में पहले दिन 45 करोड़ रुपये की शराब की बिक्री हुई थी.

मुंबई में शराब की दुकानों को बंद करने का फैसला
मुंबई के रेड जोन वाले इलाकों में शराब की दुकानों पर भारी भीड़ और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की धज्जियां उड़ते देखने के बाद लॉकडाउन के तीसरे चरण में राज्य सरकार की तरफ से एक दिन पहले जो छूट शराब समेत गैर जरूरी दुकानों खोलने की दी गई थी उसे बीएमसी ने मुंबई से मंगलवार को वापस ले लिया है. बीएमसी कमिश्नर प्रवीण परदेशी ने को सर्कुलर जारी करते हुए कहा कि सिर्फ किराना और मेडिकल स्टोर्स को ही खुलने की इजाजत रहेगी.

उत्तराखंड में शराब पर कोरोना सेस की तैयारी
वहीं, उत्तराखंड में भी शराब पर कोरोना सेस लगाने की तैयारी हो गई है. कल (गुरुवार) को होने वाली कैबिनेट बैठक में प्रस्ताव लाया जा रहा है. शराब की हर बोतल पर कितने प्रतिशत कोरोना सेस लगाया जाए, इस पर अंतिम फैसला कैबिनेट लेगी. इससे पहले दिल्ली सरकार ने शराब पर 70 प्रतिशत कोरोना सेस लगाया है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More