कोरोना वायरस का और बुरा रूप अभी आगे देखने को मिलेगा

जिनेवा : विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चेताया है कि कोरोना वायरस से जुड़ा संकट आगे और बुरा रूप लेने जा रहा है. उन्होंने ऐसे समय में दुनिया को सचेत किया है जबकि कई देशों ने प्रतिबंधों में छूट देना शुरू कर दिया है. WHO के महानिदेशक टेड्रोस ए. गेब्रेयेसस ने हालांकि यह नहीं बताया कि उन्हें ऐसा क्यों लगता है कि वायरस का संकट और गंभीर होने वाला है. अब तक पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के करीब 25 लाख पॉजिटिव केस सामने आए हैं जिनमें से 1.66 लाख लोगों की मौत हो चुकी है.

माना जा रहा है कि यह संकट आगे अफ्रीका के रास्ते गहराएगा जहां स्वास्थ्य व्यवस्था के हालात बुरे हैं. टेड्रोस ने कोरोना वायरस महामारी के संकट के लिए 1918 के स्पेनिश फ्लू का उदाहरण दिया. उन्होंने कहा, ‘य़ह बेहद खतरनाक मेल है और यह हो रहा है. जैसे कि 1918 के फ्लू ने 10 करोड़ लोगों की मौत हो गई थी.

उन्होंने कहा, ‘लेकिन अब हमारे पास टेक्नॉलजी है, हम उस आपदा को रोक सकते हैं, हम उस तरह के संकट को रोक सकते हैं. हमपर भरोसा करें, अभी और बुरा रूप देखने को मिलेगा. चलें इस आपदा को रोकें. यह वायरस है जिसे कई लोग अभी भी नहीं समझते.’ WHO की तरफ से ऐसी चेतावनी तब आई है जब अमेरिका ने उसपर कोरोना वायरस से निपटने में जिम्मेदारी का पालन न करने का आरोप लगाते हुए फंडिंग रोक दी है.

लॉकडाउन के बीच यहां राहत
अमेरिका, स्पेन, डेनमार्क सहित कई ऐसे देश हैं जहां लॉकडाउन के दौरान छूट दी जा रही है. अमेरिका में तो राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप समर्थक शटडाउन हटाने के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं और इकॉनमी खोलने की मांग कर रहे हैं. स्पेन में उन लोगों को ऑफिस जाने की इजाजत दी गई है जो घऱ से काम नहीं कर सकते. डेनमार्क में स्कूल खोलने के बाद अब ब्यूटी पार्लर भी खोले जा रहे हैं. पाकिस्तान में भी नो रिस्क की सूची में कुछ उद्योगों को डालकर उन्हें खोला गया है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More