जानिए बिहार में इस बार कब पहुंचेगा मानसून, और कितनी होगी बारिश

पटना : बिहार में मौसम के तेवर बदले दिख रहे हैं. मंगलवार की रात और बुधवार के दिन में राज्य के की इलाके में तेज आंधी-तूफान के साथ बारिश हुई तो वहीं वज्रपात से दो लोगों की जान भी चली गई. कई जगहों से ओलावृष्टि की भी खबरें मिलीं. इसे देखकर अनुमान लगाया जा रहा है कि बिहार में हर साल के मुकाबले इस साल से मानसून के पांच दिन की देरी हो सकती है.

पूणे स्थित माैसम विभाग मुख्यालय ने बुधवार काे देश के केरल समेत 64 जगहाें पर मानसून के पहुंचने की तारीख जारी कर दी है. माैसम विभाग के अनुसार केरल में पहले की ही तरह इस बार भी पहली जून काे ही मानसून राज्य में दस्तक देगा, जबकि बिहार में इस साल 15 जून काे मानसून की पहली बारिश की होगी.

बिहार में इस साल 10 जून काे मानसून आने की तिथि संभावित थी, लेकिन अब यह पांच दिन आगे जा सकता है. मौसम विभाग ने इस साल जून से सितंबर तक मानसून के दौरान 88 सेमी बारिश होने की उम्मीद जताई है जो सामान्य से अधिक होगी. पटना माैसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विवेक सिन्हा ने बताया कि 20 जून तक मानसून पूरे बिहार काे कवर कर लेगा. पटना में मानूसन के दस्तक देने और विदा हाेने की तारीखाें का ऐलान 15 मई को किया जाएगा.

वहीं राज्य के छपरा और गया जिले के लिए मानसून के आने और जाने की तिथि की घाेषणा कर दी गई है. गया में मानसून 12 जून की बजाय 16 जून काे आएगा और 8 अक्टूबर जाएगा तो वहीं छपरा में 13 की बजाय 18 जून काे मानसून की पहली बारिश हाेगी जबकि 8 की बजाय 6 अक्टूबर काे मानसून वापस चला जाएगा. जानकारी के मुताबिक बिहार से मानसून की विदाई अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में हाे जाएगी जाे पहले अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में हाेती थी.

जानिए क्यों बदला मानसून का समय

मौसम विभाग ने बीते 59 वर्षों में मानसून के दौरान बारिश के ट्रेंड के आधार पर 64 शहरों में मानसून के आगमन व प्रस्थान की तारीखों में बदलाव किया है. अभी तक ये तारीखें 1901 से 1940 के दौरान मानसून के ट्रेंड पर आधारित थी. पर कई साल से कई शहरों में मानसून न तो तय समय पर आ रहा था और न उसकी वापसी हो रही थी. मौसम विभाग ने अब 1961 से 2019 तक मानसून के ट्रेंड के हिसाब से मानसून के आगमन की, जबकि 1971 से 2019 तक की मानसून के प्रस्थान के रिकॉर्ड के आधार पर इन तारीखों की घोषणा की है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More