नालंदा में बढ़ी कोरोना वायरस की चेन, तीन की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

नालंदा : बुधवार की दोपहर तीन मरीजों की रिपोर्ट पॉजीटिव मिली है. बताया जाता है कि दुबई में कोरोना पीड़ित से ये संपर्क में आए थे. इनमें दो महिला और एक पुरुष हैं. महिला की उम्र जहां 35 और 25 साल है तो पुरुष करीब 60 साल का बताया जाता है. इस तरह से नालंदा में मरीजों की संख्या छह हो गई है. तीन मरीज पहले जिले में पॉजिटिव मिले थे.

कासगंज को किया गया सील

नवादा के तब्लीगी जमात के दो कोरोना पॉजिटिव लोग बिहार थाना क्षेत्र के खासगंज मोहल्ले भी गए थे. इसलिए इस मोहल्ले को सील कर दिया गया है. वहीं, पहले सील शेखाना और अम्बेर मोहल्ले के 14 लोगों को सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया. मंगलवार को इन सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। सिविल सर्जन डॉ. राम सिंह ने बताया कि इन सभी को 14 दिन तक आइसोलेशन में रखा जाएगा. इनके संपर्क में आए अन्य 40 लोगों को भी आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. उनके भी सैंपल लेकर पटना भेजे गए हैं.

नालंदा कोरोना अपडेट

अभी तक मिले मामले- 6

स्वस्थ हो चुके मरीज- 2

कुल मौत – 0

कोरोना पॉजिटिव युवक भेजा गया एनएमसीएच

खासगंज निवासी 40 वर्षीय युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे इलाज के लिए पटना के एनएमसीएच भेज दिया गया है. डीएम योगेन्द्र सिंह ने भी शेखाना मोहल्ला से उठाए गए 14 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आने की पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले या किसी कोरोना पॉजिटिव के सम्पर्क में रहने वाले लोग स्वेच्छा से अस्पताल में आकर अपनी जांच करा लें. जिला प्रशासन उनकी मदद को हमेशा तत्पर है. उन्हें किसी प्रकार से डरने की बात नहीं है। प्रशासन उनके साथ है.

सील किए गए मोहल्लों में गरीबों के घर शासन पहुंचाएगा राशन

शेखाना व अन्य जगहों से कुल 54 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराने के बीच सोमवार की रात खासगंज मोहल्ला से एक कोरोना पॉजिटिव युवक मिलने से हड़कम्प मच गया. शेखाना व अम्बेर मोहल्ला पहले ही सील कर दिया गया था. मंगलवार की सुबह खासगंज मोहल्ले को भी सील कर दिया गया. इस मोहल्ले के लोगों को घर से बाहर निकलने पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी गई है. लेकिन इन मोहल्ले में रहने वाले गरीब परिवार को चिह्नित कर उनके घर राशन सामग्री पहुंचाई जाएगी.

बिहारशरीफ में मिले कोरोना पॉजिटिव को भेजा गया एनएमसीएच

शहर का खासगंज निवासी 40 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव मिला है. वह बीते 20 मार्च को दुबई से दिल्ली लौटा था. दो दिन दिल्ली में रहकर जांच कराई तो रिपोर्ट निगेटिव आई थी. इसके बाद वह 22 मार्च को पटना के आलमगंज स्थित अपनी ससुराल पहुंचा. वहां 10 दिन रहने के बाद वह बिहारशरीफ अपने पैतृक घर आया. यहां वह 11 अप्रैल को खुद सदर अस्पताल पहुंचा था. जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक जांच में उसे स्वस्थ पाया और घर में ही 14 दिनों तक होम क्वारंटाइन में रहने की सलाह देकर छोड़ दिया. शुक्र रहा कि ऐहतियात के तौर पर उसके स्लाइवा का सैम्पल ले लिया गया था. दो दिन बाद पटना से जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में युवक को घर से सीधे पटना के एनएमसीएच रेफर कर दिया गया. जहां वह 14 दिनों तक आईसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा. दुबारा, तिबारा जांच में निगेटिव रिपोर्ट आएगी तो उसे घर लौटने की इजाजत दी जाएगी.

दो कोरोना संक्रमित युवक स्वस्थ्य होकर लौटे घर

इससे पूर्व नालंदा के दो युवक कोरोना पॉजिटिव मिले थे. जो स्वस्थ्य होकर घर लौट चुके हैं. यह तीसरा केस है. पहला युवक नगरनौसा के कैला गांव का मूल बा¨शदा गौतम पांडेय था. वह पटना के शरणम हॉस्पिटल का स्वास्थ्यकर्मी था. वह मुंगेर के कोरोना संक्रमित उस युवक के इलाज के दौरान सम्पर्क में आया था. वहीं दूसरा युवक इंजीनियर फैयाज आलम सिलाव प्रखंड के सबैत गांव का बा¨शदा था. वह आबूधाबी से लौटा था. दोनों युवकों को पटना के एनएमसीएच में भर्ती कराया गया था. उनकी लगातार चार बार जांच की गई. सभी रिपोर्ट निगेटिव आई. 14 दिनों होम क्वारंटाईन की नसीहत के साथ दोनों को हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More