लुधियाना :अपने ही पराये निकले; पोती को बेचने में असफ़ल रही दादी ने खौलते तेल में बच्ची का हाथ डाला

लुधियाना : नूरवाला रोड स्थित पंचशील कॉलोनी में एक दादी ने अपने दो साल की पोती को बेचने की कोशिश की. लेकिन न बेच पाने पर उसने बच्ची के दोनों हाथ उबलते हुए गर्म तेल में डाल दिए. जिस कारण बच्ची बुरी तरह से झुलस गई. लेकिन मां के मौके पर पहुंचने के चलते उसने बच्ची का बचाव किया और तुरंत सिविल अस्पताल पहुंचाया. अब बच्ची की हालत में सुधार है. थाना बस्ती जोधेवाल की पुलिस ने नूरवाला रोड के संगीता की शिकायत पर पंचशील कॉलोनी के दर्शना रानी के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

बच्ची को पसंद नहीं करती थी दादी: बच्ची की मां

पुलिस ने शनिवार सुबह महिला को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन अभी पुलिस ने इस बात की पुष्टि नहीं की है. एएसआई रमेश कुमार ने बताया कि शिकायतकर्ता महिला का पति दीपक कुमार रेलवे विभाग का मुलाजिम है और ग्यासपुरा फाटक पर उसकी गेटमैन की ड्यूटी है. उनके दो बच्चे एक 10 साल का बेटा पीयूश और दो साल की बेटी रोजल है. उक्त आरोपी महिला दर्शना रानी उसकी सास है. वह दाई का काम करती है. शिकायतकर्ता के अनुसार उसकी सास दर्शना उनकी बेटी रोजल को पसंद नहीं करती थी. वह अक्सर कहती थी कि उसे बेटा चाहिए. इसी कारण वह अक्सर बेटी को बेच देने की बातें करती थी. पहले कई बार झगड़ा हुआ। जिसके चलते दोनों एक ही घर में अलग अलग रहते थे.

खेल रही बच्ची को ले जाकर तेल डाला

बच्ची का पिता दीपक काम पर गया. जबकि शिकायतकर्ता अपने कमरे में बैठी थी. इसी दौरान दर्शना बच्ची रोजल को उठाकर किचन में ले गई. वहां पर ले जाकर उसने रोजल का एक हाथ कढ़ाई में पड़े गर्म तेल में डाल दिया. जिस कारण उसका हाथ बुरी तरह से झुलस गया. बच्ची ने शोर मचाना शुरू कर दिया. शिकायतकर्ता बच्ची की आवाज सुनकर भागकर किचन में पहुंची. तब दर्शना बच्ची का दूसरा हाथ भी कढ़ाई में डाल रही थी.
 

कमरे में बंद कर दिया था, पुलिस ने दरवाजा तोड़कर बच्ची को बचाया था

दीपक कुमार ने बताया कि उसकी मां आरोपी महिला ने पहले भी रोजल को मारने की कोशिश की थी. 2018 में वह रोजल को उठाकर कमरे में ले गई और अंदर से शिकायतकर्ता को आवाज मारकर कहा कि मैंने तेरी बेटी मार दी है. शिकायतकर्ता ने शोर मचाना शुरू किया और बेहोश हो गई. इतने में इलाके के लोगों को इकट्ठे होकर बहुत कोशिश की. लेकिन आरोपी ने गेट नहीं खोला. फिर लोगों ने पुलिस को सूचित किया. मौके पर पहुंची उस समय की एसएचओ माध्वी शर्मा के आदेशों पर दरवाजा तोड़कर बच्ची को निकाला गया. तब बच्ची अंदर कपड़ों के नीचे बेहोश पड़ी थी. इसके बाद भी उसने दो बार बच्ची को मारने की कोशिश की थी.
 

आरोप-सास कहती थी; बेच दो, अच्छे पैसे भी दिला दूंगी
शिकायतकर्ता ने बताया कि आरोपी दर्शना रानी अक्सर उन्हें बेटी को बेचने की बात कहती थी. लेकिन उनके मना करने पर वह कहती थी कि उसे पोता चाहिए, लेकिन पोती हो गई. जिसके चलते इसे बेचकर दोबारा से पोता लेना चाहती हूं. लेकिन न बेच पाने पर उसने बच्ची को मारने की कोशिशें करनी शुरू कर दी. लेकिन शिकायतकर्ता द्वारा अपनी बच्ची की जान को खतरे में देख पुलिस को शिकायत दी.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More