31 मार्च तक बंद रहेंगे बिहार के सभी स्कूल, कॉलेज, सिनेमाहॉल,पार्क,संग्रहालय और चिड़ियाघर, बिहार दिवस का तीन दिवसीय आयोजन भी रद्द

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए एहतियात के तौर पर सूबे के सभी सरकारी व  निजी स्कूलों तथा कॉलेज व कोचिंग संस्थानों को 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है. सभी सिनेमा हॉल, पार्क, चिडिय़ाघर व संग्रहालय भी 31 मार्च तक बंद कर दिए गए हैं. इस बीच गांधी मैदान में होने वाले बिहार दिवस के तीन दिवसीय आयोजन को भी रद कर दिया गया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई उच्चस्तरीय बैठक में यह फैसला लिया गया. मुख्‍यमंत्री ने कहा कि जनता को घबराने की जरूरत नहीं है. ये कदम एहतियातन उठाए जा रहे हैं .

बिहार में अभी तक कोरोना का एक भी मामला नहीं मिला है. यहां 142 मरीजों को आब्जर्वेशन में रखा गया था जिनमें से 73 को घर भेज दिया गया है. शेष की जांच चल रही है. कोरोना वायरस काफी तेजी से फैलता है. इस वजह से एहतियातन राज्‍य सरकार ने कई निर्णय लिए हैैं .

सरकार के निर्णयों की जानकारी देते हुए मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया कि सरकार के अधीन चलने वाले कॉलेजों व विश्वविद्यालयों में जो परीक्षाएं इस महीने में शिड्यूल हैं, उन्हें स्थगित किया जा रहा है. सरकारी स्कूलों के साथ-साथ सूबे के सभी निजी स्कूल व कोचिंग संस्थान भी 31 मार्च तक बंद रहेंगे. शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव महाजन ने कहा कि स्कूल बच्चों के लिए बंद किए गए हैैं. शिक्षकों को स्कूल आना है. स्कूल बंद रहने के दौरान मिड डे मील की राशि बच्चों के परिजनों के खाते में डाल दी जाएगी. सीबीएसई व आईसीएसई बोर्ड की चल रही परीक्षाओं के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस बारे में संबंधित बोर्ड को निर्णय लेना है .

बैठक में निर्णय हुआ कि सूबे के सभी सिनेमा हॉल, पार्क, चिडिय़ाघर व संग्रहालय 31 मार्च तक बंद रहेंगे. सामूहिक आयोजन पर रोक रहेगी. गांधी मैदान में होने वाले बिहार दिवस के तीन दिवसीय आयोजन को भी रद कर दिया गया है . उन्होंने बताया कि सरकारी कर्मियों को भी अल्टरनेट-डे बुलाने पर विचार हो रहा है, ताकि कार्यालयों में गैदरिंग ना हो.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई इस हाई लेवल मीटिंग में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, प्रदेश के स्वास्थ्यमंत्री मंगल पांडेय सहित कई उच्चाधिकारी शामिल थे. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में कोरोना से बचाव के लिए किए जा रहे उपायों की जानकारी ली. इसके साथ ही इसे लेकर क्या कदम उठाए जाने चाहिए, इसकी भी चर्चा की गई .

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर डरने की आवश्यकता नहीं है. सरकार पूरी तरह से सतर्क है. उन्‍होंने कहा कि सरकार के कदम एहतियाती और लोगों को जागरुक करने के लिए हैं. मोबाइल व अन्य संचार माध्यमों से लोगों को इसके बारे में जानकारी दी जा रही है. सरकार के स्तर पर जरूरी उपाय किए गए हैैं. बिहार में विदेश से आने वाले लोगों की पटना एवं बोधगया एयरपोर्ट पर सख्त स्क्रीनिंग भी की जा रही है .

बता दें कि पहले ही बिहार सरकार ने पीएमसीएच के सभी डॉक्टरों और अपने कर्मचारियों की छुट्टियों को रद्द कर दिया है. इसके साथ ही अस्पताल प्रशासन ने सभी डॉक्टरों और कर्मचारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए हैं. अगले आदेश तक सभी डॉक्टरों और कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More