DIG मनु महाराज के नाम से फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर लड़कियों को करता था ब्लैकमेल, दोनों आरोपी चढ़े पुलिस के हत्‍थे

बिहार में साइबर क्राइम का नया मामला सामने आया है. साइबर क्रिमिनल ने पुलिस के वरीय अधिकारी के नाम से ही फर्जी फेसबुक अकाउंट बना लिया था. बताया जाता है कि मुंगेर के डीआईजी मनु महाराज का फर्जी फेसबुक और इंस्टाग्राम आईडी बनाकर लड़कियों को ब्लैकमेल करने के आरोप में पुलिस ने दो सगे भाइयों को गिरफ्तार किया है. दोनों के पास से फेसबुक में उपयोग किया जाने वाला मोबाइल नंबर भी बरामद किया गया है. दोनों साइबर क्रिमिनल गया के रहने वाले हैं. पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है.

  बताया जाता है कि डीआइजी मनु महाराज का फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाने के मामले में पुलिस ने गया जिला के रामजी मार्केट बेलागंज से नीरज कुमार और धीरज कुमार को गिरफ्तार किया है. धीरज कुमार मनु महाराज के फर्जी फेसबुक अकाउंट के जरिये एक निजी कोचिंग का प्रचार-प्रसार करता था. वहीं, लड़कियों की अश्लील फोटो और पोर्नोग्राफी के माध्यम से उन्हें ब्लैकमेल भी करता था.

पुलिस की पूछताछ में पता चला कि धीरज दोनों अकाउंट से अपने कोचिंग का प्रचार करता था, ताकि आईपीएस के नाम पर ज्यादा से ज्यादा छात्र-छात्राएं उसके संस्थान में आ सकें. इस फेसबुक अकाउंट से धीरज ने अश्लील फोटो और पोर्नोग्राफिक पोस्ट्स के जरिए लड़कियों को ब्लैकमेल करने की बात भी कबूली है. गिरफ्तारी के बाद दोनों भाइयों को मुंगेर पुलिस अपने साथ लेकर चली गई है.

आपको बता दें कि फर्जी अकाउंट बनाकर लड़कियों को ब्लैकमेल करने की शिकायत मिलने पर मुंगेर के डीआईजी मनु महाराज ने ईस्ट कॉलोनी और कोतवाली थाने में मामला दर्ज कराया था. इसके बाद पुलिस की छानबीन में जो मोबाइल नंबर पहचान में आया, वह गया जिले के बेलागंज थाने के बाजार इलाके के नीरज का निकला. उसके बाद मुंगेर से आई पुलिस की टीम ने बेलागंज पुलिस के सहयोग से पहले नीरज को गिरफ्तार किया और उससे पूछताछ के बाद छोटे भाई धीरज को भी धर दबोचा. पुलिस के मुताबिक इस सिम कार्ड के जरिए धीरज ही आईपीएस अफसर मनु महाराज के नाम से फर्जी फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट चला रहा था.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More