अवैध संबंध में प्रेमी ने धारदार हथियार से 3 बच्चों की मां की हत्या

मोगा : मोगा में 3 बच्चों की मां एक महिला की धारदार हथियार से हत्या कर दिए जाने की घटना सामने आई है. वारदात को उसके प्रेमी ने ही अंजाम दिया है. कहा जा रहा है कि आरोपी के खिलाफ के 5 दिन पहले जान के खतरे की शिकायत दी गई थी. अगर वक्त रहते पुलिस ने कार्रवाई की होती तो शायद महिला की जान बच सकती थी. बहरहाल, महिला के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाते हुए पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी है.


जिले के गांव तख्तूपुरा निवासी गुरप्रीत सिंह ने बताया कि उसकी शादी परमजीत कौर के साथ 14 साल पहले हुई थी. तीन बच्चे एक बेटी व दो बेटे हुए. वह मजदूरी करता है, जबकि उसकी पत्नी परमजीत कौर लोगों के घरों में साफ सफाई का काम करती थी. एक साल पहले उसकी पत्नी का घर के निकट रहने वाले गुरसेवक सिंह के साथ अवैध संबंध थे, लेकिन पांच महीने पहले परमजीत कौर व सेवक सिंह में किसी बात को लेकर विवाद हो गया. इसी के चलते पांच दिन पहले गुरसेवक सिंह ने उसके साथ मारपीट की तो इस संबंध में बिलासपुर चौकी में लिखित शिकायत देकर जान को खतरा बताया था. पुलिस ने इस शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की.


इसी बीच 28 फरवरी को दोपहर 3 बजे परमजीत कौर बच्चों को लेने के लिए गई तो गुरसेवक सिंह गाली-गलौच का आरोप लगा मारपीट पर उतर आया. देखते ही देखते उसने उसे नीचे गिराकर किरच ले हमला किया. इसके बाद छोटे भाई की पत्नी मनप्रीत कौर ने परमजीत कौर की चीखें सुनकर छुड़वाया और निहाल सिंह वाला के अस्पताल में दाखिल करवाया.


शनिवार सुबह वहां से डॉक्टरों ने परमजीत कौर को मोगा के लिए रेफर कर दिया. रास्ते में उसकी मौत हो गई. मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने मृतक महिला परमजीत कौर के पति गुरप्रीत सिंह के बयान पर आरोपी गुरसेवक सिंह शुरली के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.


हालांकि पुलिस ने आरोपी के दोस्त लल्ली व कुछ अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया है, लेकिन मृतका के पति की मानें तो यह हत्या 5 दिन पहले की शिकायत पर कार्रवाई नहीं होने का नतीजा है. दूसरी ओर इस बारे में एसपी-डी हरिंदरपाल सिंह परमार ने कहा कि मृतका की ओर से पांच दिन पहले दी गई शिकायत के बारे में उन्हें जानकारी नहीं है. इसकी वह जांच करेंगे. अगर शिकायत आई हुई और उस पर कारवाई न की गई तो जिसकी लापरवाही सामने आएगी उसके खिलाफ बनती कार्रवाई की जाएगी.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More