रात को पिता के घर से डोली में आई थी दुल्हन, सुबह पिया के घर से उठी अर्थी

करनाल: करनाल के रविन की जिंदगी में खुशियां आने से पहले ही दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है. दरअसल मंगलवार को बारात में जाते समय कार हादसे में भतीजे साहिल की मौत हो गई. साथ ही उसके तीन दोस्त घायल हो गए थे. अभी परिवार के लोग इस सदमें से उभरे भी नहीं थे कि देर रात को घर आई नई नवेली दुल्हन की अचानक मौत हो गई.

सदमें में हार्ट अटैक से हुई मौत
इस हादसे के बाद लड़का-लड़की के दोनों परिवारों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा. मंगलवार रात करीब 7 बजे दुल्हन निकेश पति रविन के साथ डोली में ससुराल पहुंची. वैवाहिक रस्मों के बाद दुल्हन निकेश को जब पता चला कि बारात में जाते समय हादसे में उसके देवरी की मौत हो गई तो उसको गहरा सदमा लगा और इसी सदमे में उसकी रात करीब 9 बजे मौत हो गई. 82 वर्षीय अंतराम ने बताया कि उसके पौते रविन की बारात गांव गुल्लरपुर में गई थी. शाम को करीब 7 बजे दुल्हन उनके घर में पहुंची.

अंतराम ने बताया कि दुल्हन निकेश बार-बार अपनी सास से पूछती रही कि मम्मी हादसे में जान गंवाने वाला साहिल भी अपने ही परिवार से था क्या. वह लोगों से बार-बार हादसे का जिक्र सुनकर सहमी सीं थी. रात करीब पौने नौ बजे वह शादी की ड्रैस बदलने के लिए घर की छत पर बने कमरे में गई. जब वह कपड़े बदलकर अपनी सास व अन्य महिलाओं के पास आकर बैठी तो अचानक पसीने आकर निकेश की तबीयत खराब हो गई. तबीयत ज्यादा खराब होने पर ससुराल के लोग उसे असंध अस्पताल लेकर पहुंचे. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

निकेश गुड़गांव की एक कंपनी में करती थी काम, रविन दुबई में करता जॉब
दूल्हे रविन ने बताया कि वह पिछले कई सालों से दुबई की ईएफएस इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी में इंजीनियर है. उसके पास दुबई की ही पीआर है. वह शादी के लिए 19 फरवरी को इंडिया पहुंचा था. करीब डेढ़ माह की कंपनी से छुट्टी मिली थी. जबकि उसकी पत्नी निकेश कंप्यूटर साइंस का डिप्लोमा कर गुड़गांव में एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करती थी. दोनों को करीब डेढ़ माह बाद दुबई में ही सेटल होना था, लेकिन घर आने के 2 घंटे बाद ही उसकी पत्नी दुनिया छोड़कर चली गई. दूल्हे का छोटा भाई मनीष कनाडा में रहता है, जोकि शादी में कैनेडा से आया था. इस हादसे के बाद पूरा परिवार टूट गया है.

सुबह चाची, शाम को भतीजे का संस्कार, दोनों गांवों में मातम
दूल्हे के कुनबे से लगने वाले भतीजे साहिल की मौत और फिर रात को दुल्हन निकेश की मौत से गांव में मातम पसर गया. सुबह करीब पौने नौ बजे सुबह दुल्हन का संस्कार किया गया. जबकि पोस्टमार्टम होने के बाद साहिल की डेडबॉडी करीब ढाई बजे गांव जौली पहुंची थी. करीब तीन बजे साहिल के शव का संस्कार किया गया. एक साथ दोनों की मौत होने से लड़का और लड़की के गांव में मातम पसर गया.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More