बिहार में NRC लागू नहीं होने को तेजस्‍वी यादव ने बताया RJD की जीत

आज बिहार विधानसभा में बजट के बीच एनसीआर के खिलाफ प्रस्ताव पारित हो गया. नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) ने इसे आरजेडी (RJD) की जीत बताया है. साथ ही बीजेपी (BJP) विधायकों पर तंज भी कसा है. उन्‍होंने कहा कि इस प्रस्‍ताव के पास होने के दौरान बीजेपी के विधायक टुकुर-टुकुर देख रहे थे. तेजस्‍वी ने इसके लिए जनता को बधाई दी तथा कहा कि आरजेडी ने अपना वादा निभाया. उन्‍होंने कहा कि बिहार ऐसा पहला राज्य है जहां बीजेपी के सरकार में रहते एनपीआर (NPR) लागू नहीं करने का प्रस्ताव पारित किया गया. वहीं, पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि बिहार विधानसभा में बिहार में एनआरसी लागू नहीं होने का प्रस्ताव पास होना हमारी जीत है.

नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने मंगलवार को विधानसभा की कार्यवाही के बाद अपने प्रेस बयान में बताया कि बिहार में एनआरसी/ एनपीआर (NRC/ NPR) लागू नहीं करने की हमारी अटूट मांग पर आज बिहार विधानसभा में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास कराया गया. उन्‍होंने कहा कि एक इंच भी नहीं हिलने वाले शायद नहीं जानते कि यह गांधी, अंबेडकर, जेपी, लोहिया, कर्पूरी और लालू को मानने समाजवादी क्रांतिकारियों की धरती बिहार है. यह संविधान की जीत है. यहां एक बिहारी सौ पर भारी है.

उन्‍होंने कहा कि NRC/ NPR पर एक इंच भी नहीं हिलने वाली बीजेपी (BJP) को आज हमने दिल्ली से लेकर पटना तक 1000 किलोमीटर तक हिला दिया. उन्‍होंने तंज कसते हुए कहा कि BJP वाले माथा पकड़े टुकुर-टुकुर देखते रह गए. राष्ट्रपिता बापू गांधी और बाबा साहेब निर्मित संविधान मानने वाले हम लोग सीएए (CAA) को भी बिहार में लागू नहीं होने देंगे.

तेजस्‍वी ने कहा कि 10 दिसंबर को रात 12 बजे जब यह काला कानून लोकसभा में पास हुआ था, उसके मात्र नौ घंटे बाद सुबह में राजद के सभी विधायकों के साथ हमलोग पटना में गांधीजी की मूर्ति के पास धरने पर बैठे थे. उसी दिन हमने आम-आवाम से वादा किया था कि चाहे जो भी हो जाए, हमारे रहते इस संविधान विरोधी काले कानून को बिहार में लागू नहीं होने देंगे. लगातार सड़क से सदन तक हमारे संघर्ष का परिणाम है कि एनडीए सरकार को झुकना पड़ा.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More