दिल्ली के विभिन्न इलाकों में CAA के विरोधी और समर्थकों का हिंसक प्रदर्शन जारी

नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध और समर्थन में सोमवार को भी दिल्ली के विभिन्न इलाकों में प्रदर्शन जारी है. जाफराबाद रोड, भजनपुरा और मौजपुर में हिंसक प्रदर्शन के दौरान दो घरों में आग लगा दी और एक पेट्रोल पंप को फूंक डाला. हिंसा के चलते एक पुलिसकर्मी रतन लाल की मौत हो गई है, वहीं, शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा के भी घायल होने की खबर है. हिंसक प्रदर्शनों के चलते पुलिस ने उत्तर-पूर्वी जिले में धारा 144 लागू कर दी है.

नार्थ इस्ट डीसीपी वेद प्रकाश सूर्या ने कहा है कि फिलहाल  स्थिति नियंत्रण में है और पुलिस दोनों पक्षों से लगातार बातचीत कर रही है. वहीं दिल्ली में हिंसक वारदातों के बीच एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें मौजपुर से जाफराबाद वाली सड़क पर एक लड़का हाथ में तमंचा लेकर फायरिंग करता हुआ दिख रहा है. लड़का पुलिस के सामने फायरिंग कर रहा था. इस लड़के ने तकरीबन 8 राउंड फायरिंग की. पुलिसवालों ने लड़के को रोकने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं रूका और ताबड़तोड़ फायरिंग करता रहा .

इससे पहले, उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर इलाकों में प्रदर्शनकारियों ने कम से कम दो घरों में आग लगा दी, जिससे तनाव और बढ़ गया है. इन इलाकों में सोमवार को लगातार दूसरे दिन सीएए समर्थक और विरोधी समूहों के बीच झड़पें हुईं. प्रदर्शनकारियों ने एक-दूसरे पर पथराव किया. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े. पुलिस ने समूहों को शांत कराने के भी प्रयास किए. अधिकारियों के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने इलाके में लगी आग बुझाते समय दमकल की एक गाड़ी को भी नुकसान पहुंचाया .

मौजपुर में सीएए समर्थकों और विरोधियों के बीच लगातार तनाव बना हुआ है. कल की हिंसा के बाद आज फिर दोनों पक्षों के बीच पत्थरबाजी हुई. सुबह 11 बजे से शुरु हुआ हंगामा दोपहर करीब 2 बजे तक चलता रहा. दोनों गुटों के बीच पत्थरबाजी फिलहाल थम गई है. संभावित बवाल के  मद्देनजर दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) ने जाफराबाद और मौजपुर मेट्रो स्टेशन को सोमवार सुबह से ही बंद कर रखा है. उधर, कुछ इलाकों में स्कूल बंद कर दिए गए हैं .

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More