झारखंड में अब 6 गोल्ड माइंस ,दो नए जिलों में मिला सोने का भंडार, जीएसआई ने पुष्टि की

झारखंड के दाे जिलों में सोना का भंडार मिला है. जियोलाजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया ने इसकी पुष्टि की है. जमशेदपुर के हाता के पास भीतरदारी क्षेत्र में जहां 0.35 मिलियन टन सोना यानी 3.5 लाख टन सोने का भंडार है, वहीं झारखंड की सीमा पर गढ़वा से सटे यूपी के सोनभद्र में कनहर नदी के किनारे शिव पहाड़ी पर 1.74 टन सोने का भंडार मिला है. जियोलाजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया के झारखंड कार्यालय ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि भीतरदारी में 0.35 मिलियन टन सोना है. उप महानिदेशक जनार्दन प्रसाद ने इसकी रिपोर्ट नागपुर स्थित भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय मुख्यालय को भेज दी है. वहां से मुहर लगते ही नीलामी के लिए राज्य सरकार को भंडार सौंप दिया जाएगा.

जानिए कहां कितना सोना

  • 03 खान जमशेदपुर के कुंदरकोचा, लावा मायसरा और भीतरदारी जमशेदपुर में 
  • 01 प. सिंहभूम के पाहरडीहा में
  • 01 तमाड़ के परासी गांव में
  • 10 मिलियन टन सोने का भंडार परासी में 
  • 2.5 मिलियन टन सोना पाहरडीहा में 

गढ़वा के पास शिव पहाड़ी पर सीमांकन शुरू

सोनभद्र के अधिकारी विजय मौर्य की अगुवाई मे 9 सदस्यीय टीम ने गढ़वा के शिव पहाड़ी पर सीमांकन शुरू कर दिया है. माैर्य ने बताया कि वन और राजस्व विभाग के सहयोग से सीमाकंन किया जा रहा है. सीमाकंन होने पर ई टेंडरिंग किया जाएगा. पहाड़ी के 108 हेक्टेयर क्षेत्र में सोना मिला है.

भीतरदारी में 200 मी. गहराई से सोना निकलेगा
जीआईएस, झारखंड के तकनीकी निदेशक अरुण शर्मा ने बताया कि भीतरदारी मेंं 200 मी. गहराई से सोना निकलने लगेगा. 2014-15 में तत्कालीन जियोलॉजिस्ट पंकज कुमार और राजेश गुप्ता के निर्देशन में मैपिंग, सैंपलिंग कार्य शुरू हुआ. उनके बाद 2017-18 में सीनियर जियोलॉजिस्ट अभिषेक कुमार दास और नंदू खलखाे की देखरेख में ड्रिलिंग का काम चला.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More