जदयू ने प्रशांत किशोर को स्टार प्रचारकों की लिस्ट से बाहर किया, केजरीवाल के लिए चुनाव कैंपनिंग करने का असर

जनता दल (यूनाइटेड) ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए स्टार प्रचारकों की लिस्ट से प्रशांत किशोर को बाहर कर दिया है. राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी के लिए काम करने के चलते पार्टी ने यह फैसला लिया है. हालांकि, जल संसाधन मंत्री और दिल्ली विधानसभा चुनाव में जदयू के प्रभारी संजय झा ने कहा कि जैसी डिमांड होती है, वैसी लिस्ट बनाई जाती है. जिस नेता की जहां जरूरत होती है वहां उसे टास्क दिया जाता है. जदयू ने झारखंड विधानसभा चुनाव और बिहार में हुए उपचुनाव के लिए प्रशांत किशोर को स्टार प्रचारकों की लिस्ट में जगह दी थी.

सीएए-एनआरसी के विरोध में अपनी ही पार्टी में अलग-थलग पड़ गए पीके


प्रशांत किशोर एनडीए के अंदर पहले नेता हैं जिन्होंने खुलकर सीएए और एनआरसी का विरोध किया. लगातार विरोध के कारण पीके पार्टी के अंदर ही अलग थलग पड़ गए. वे लगातार ट्वीट करके केंद्र सरकार पर हमला कर रहे थे, जिसके कारण जदयू के अंदर परेशानी खड़ी हो गई. जदयू नेता आरसीपी ने तो एक बार यहां तक कह दिया था कि अगर उन्हें पार्टी नेतृत्व का फैसला मंजूर नहीं है तो अनुकंपा पर आए नेता अपना रास्ता नाप सकते हैं.


ये है जदयू के स्टार प्रचारकों की सूची-

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी, राज्यसभा में जदयू के नेता आरसीपी सिंह, प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, लोकसभा में जदयू के नेता राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, भवन निर्माण मंत्री डॉ.अशोक चौधरी, जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा, महासचिव अफाक अहमद खान, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष दयानंद राय, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, विज्ञान प्रावैधिकी मंत्री जयकुमार सिंह, योजना मंत्री महेश्वर हजारी, सांसद रामनाथ ठाकुर, महाबली सिंह, दिलेश्वर कामत, आरपी मंडल, सुनील कुमार पिंटू, कविता सिंह, चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी और राज सिंह मान शामिल हैं.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More