बिहार के खगौल में फर्जी अधिकारी बन ठगी करने वाले तीन धराये

फर्जी आइएएस अधिकारी बनकर रेलवे ठेकेदार को ठेका देने के नाम पर ठगी करने का मामला सामने आया है. मध्य प्रदेश पुलिस ने खगौल पुलिस के सहयोग से बुधवार को मुस्तफापुर स्थित एक अपार्टमेंट के फ्लैट में छापेमारी कर फर्जी आइएएस समेत तीन लोग को गिरफ्तार किया. 

  खगौल थानाध्यक्ष मुकेश कुमार मुकेश ने बताया कि थाना बाइडी नगर, जिला मनसौर, एमपी पुलिस ने संपर्क कर बताया कि राज्य गृह मंत्रालय के फर्जी आइएएस अधिकारी बनकर पीरो भोजपुर निवासी अभिषेक रंजन पांडेय ने रेलवे ठेकेदार से ठेका देने के नाम पर अपने बैंक एकाउंट पर 6.50 लाख रुपये मांग लिये. जब ठेकेदार को पता चला कि वह ठगी का शिकार हुआ है, तब इस संबंध में ठेकेदार ने बाइडी नगर थाने में फर्जी आइएएस अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज कराया. 

  उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश की बाइडी नगर पुलिस ने फर्जी आइएएस अधिकारी के ठगी में प्रयोग किये गये मोबाइल लोकेशन से पता कर बाइडी नगर पुलिस ने खगौल पुलिस के सहयोग से छापेमारी कर मुस्तफापुर से एक अपार्टमेंट के फ्लैट से फर्जी आइएएस अधिकारी अभिषेक रंजन पांडेय, चालक चितरंजन चौबे गड़हनी छपरा निवासी व रुकनपुरा निवासी अजय विश्वकर्मा को गिरफ्तार किया गया है. 

  उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश के बाइडी नगर थाने के सब इंस्पेक्टर संजीव सिंह परिहार , प्रधान आरक्षी तूफान सिंह, आरक्षी मनीष बघेला, भानू प्रताप सिंह शामिल थे. उन्होंने बताया कि आवश्यक कार्रवाई पूरा करने के लिए एमपी पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर तीनों आरोपितों को बाइडी नगर मनसौर लेकर जायेगी.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More